बातचीत करने और सांस लेने से भी फैल सकता है कोरोना, रहें सतर्क

x

मास्क लगाना नहीं भूलें, शारीरिक दूरी का करें पालन

जहां-तहां थूकने से बचें, दूसरे लोगों का रखें ख्याल

बांका, 18 नवंबर

कोरोना का संक्रमण आमतौर पर ड्रॉपलेट्स के जरिए होता है. कोई भी कोरोना पीड़ित अगर आपके नजदीक छींकता है या फिर खांसी करता है तो उसके जरिए निकलने वाले ड्रॉपलेट्स से कोरोना के संक्रमण होने की संभावना रहती है. 2 लोगों के बीच बातचीत करने या फिर सांस लेने से भी ड्रॉपलेट्स बाहर निकलता है और वह दूसरे के शरीर में प्रवेश कर सकता है. इसलिए बातचीत करने के दौरान मास्क का प्रयोग और शारीरिक दूरी के पालन से ही कोरोना संक्रमण से बचाव संभव है।

शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ सुनील कुमार चौधरी कहते हैं कि आमतौर पर लोग ऐसा समझते हैं कि खांसने- छींकने से ही ड्रॉपलेट्स बाहर निकलता है, लेकिन ऐसा नहीं है. सांस लेने और बातचीत करने के दौरान भी ड्रॉपलेट्स बाहर निकलता है. इसलिए इन चीजों को लेकर सावधान रहें.

मास्क लगाना नहीं भूलें: डॉक्टर चौधरी कहते हैं कि बातचीत के दौरान मास्क लगाना नहीं भूलें. घर से जब भी बाहर निकलें तो मास्क जरूर लगाएं या फिर घर में भी किसी के साथ आप बातचीत कर रहे हैं तो जरूरी तौर पर मास्क लगाएं. कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए मास्क बहुत ही उपयोगी साबित हो रहा है. अपने साथ दूसरे लोगों को भी मास्क लगाने के लिए प्रेरित करें.

हर हाल में शारीरिक दूरी का पालन करें: डॉक्टर चौधरी कहते हैं कि कोरोना से बचाव के लिए शारीरिक दूरी सबसे बड़ा हथियार है. भीड़भाड़ में रहने से बचें और एक-दूसरे के बीच 2 गज की दूरी का पालन करें. यह नियम घर पर भी लागू करें. आमतौर पर देखा जा रहा है कि बाहर रहने के दौरान लोग शारीरिक दूरी का पालन करते हैं, लेकिन घर में नहीं करते. ऐसा बिल्कुल भी नहीं करें.

जहां-तहां थूकने से बचें: डॉक्टर चौधरी कहते हैं कि अभी मौसम में बदलाव हो रहा है. लोग सर्दी खांसी से पीड़ित हो रहे हैं. ऐसा देखा जा रहा है कि सर्दी आने या फिर खांसी आने पर जहां-तहां थूकते हैं. इससे संक्रमण का खतरा रहता है. ऐसा बिल्कुल भी नहीं करें. इससे आप दूसरों को कोरोना की चपेट में आने से बचा सकेंगे.

पान- पुड़िया खाने से करें परहेज: हमारे समाज में एक बहुत बड़ा तबका है जो पान, गुटखा या फिर तंबाकू खाते हैं. इनकी आदत रहती है जहां-तहां थूकने की. यह बात साबित हो चुकी है कि धूम्रपान या फिर नशा करने वाले को कोरोना का खतरा ज्यादा है. ऐसे में नशा का सेवन कर आप अपना स्वास्थ्य तो खराब कर ही रहे हैं. जहां-तहां थूककर दूसरों को भी कोरोना की चपेट में ला दे रहे हैं. इस तरह की लापरवाही नहीं करें.

कोविड 19 के दौर में रखें इसका भी ख्याल:
• व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें.
• बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.
• साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
• छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढंके.
• उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
• घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
• बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें.
• आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
• मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें
• किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों
• कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें
• बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *