कोरोना के मामले कम होना अच्छी बात पर खतरा अभी टला नहीं

कोरोना को लेकर सरकार की गाइडलाइन का करें पालन

लापरवाही बरतने से कोरोना पर नहीं हो सकेगा नियंत्रण

भागलपुर, 30 अक्टूबर

स्वास्थ्य विभाग के तमाम प्रयास के बाद जिले में कोरोना के मामलों में लगातार कमी आ रही है. पिछले 1 सप्ताह से हर दिन जिले में 25 से कम मामले आ रहे हैं बुधवार को तो काफी दिनों के बाद कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1 अंक में आ गया था और सिर्फ 9 मरीज मिले थे. इसके बावजूद कोरोना के प्रति अभी भी सावधान रहने की जरूरत है.

जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल (जेएलएनएमसीएच) के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ राजकमल चौधरी कहते हैं कि कोरोना के मामलों में कमी स्वास्थ्य विभाग के जागरूकता कार्यक्रम के साथ- साथ लोगों के प्रयास से भी हुई है. इसे अभी आगे और बरकरार रखना है. खासकर अभी सर्दी का मौसम आने वाला है. ऐसे मौसम में फ्लू के मामले ज्यादा बढ़ जाते हैं. इसलिए कोरोना से बचाव के लिए अभी सावधानी बरतने की जरूरत है. कोरोना के मामले कम जरूर हुए हैं, लेकिन इसका खतरा अभी पूरी तरह से टला नहीं है.

जगह-जगह शिविर लगाकर हो रही है जांच: कोरोना की चेन तोड़ने के लिए स्वास्थ्य विभाग युद्धस्तर पर जुटा हुआ है. इसी का परिणाम है कि मामलों में लगातार कमी आती जा रही है. स्वास्थ्य विभाग की टीम जगह जगह पर जाकर लोगों की कोरोना जांच कर रही है. सुखद बात यह है कि अब हजारों लोगों की जांच के बाद महज कुछ मामले ही सामने आ रहे हैं.

हर हाल में सामाजिक का करें पालन: राजकमल चौधरी बताते हैं शारीरिक दूरी का पालन करना बहुत जरूरी है. कोरोना के खिलाफ अभियान में यह सबसे बड़ा हथियार साबित हो रहा है. भीड़भाड़ में जाने से बचें और अगर जाएं भी तो 2 गज की शारीरिक दूरी का जरूर पालन करें. साथ ही कहीं जाने से पहले मास्क लगाना नहीं भूलें.

8000 से ज्यादा मरीज अब तक हो चुके हैं स्वस्थ: जिले में अब तक 8500 से ज्यादा मरीज मिले हैं. इनमें से 8019 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं. जबकि सक्रिय मरीजों की संख्या अभी 300 से अधिक है. पिछले 1 सप्ताह में लगभग 100 से अधिक मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे हैं. साथ ही होम आइसोलेशन में रहने वाले भी बहुत सारे मरीज स्वस्थ हुए हैं. साफ जाहिर है कि स्वास्थ विभाग की मुहिम रंग ला रहा है और लोग धीरे-धीरे कोरोना से छुटकारा पा रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है.

कोविड 19 के दौर में रखें इसका भी ख्याल:
• व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें.
• बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.
• साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
• छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढंके.
• उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
• घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
• बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें.
• आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
• मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें
• किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों
• कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें
• बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *