जानिए क्या कुछ खास रहने वाला है इस 74वां गणतंत्र दिवस पर | Mobile news 24

जानिए क्या कुछ खास रहने वाला है इस 74वां गणतंत्र दिवस पर

संविधान अपनाने के साथ ही 26 जनवरी 1950 को भारत आधिकारिक तौर पर एक लोकतांत्रिक गणराज्य बन गया. गणतंत्र दिवस पर भारत के राष्ट्रपति राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे और इस महत्वपूर्ण अवसर पर 74वां गणतंत्र दिवस समारोह शुरू होगा. गणतंत्र दिवस परेड का आयोजन इंडिया गेट के पास पुनर्निर्मित राजपथ पर होगा, जिसे अब कर्तव्य पथ के नाम से जाना जाता है. परेड में देश की सैन्य शक्ति, संस्कृति और विविधता पूरे प्रदर्शन पर होगी. इसकी वजह से इस बार का गणतंत्र दिवस दर्शकों के लिए इस साल बहुत आकर्षक और खास होगा. इस बार कर्तव्य पथ बैठने की व्यवस्था में भी बदलाव किया गया है.

 

कौन होंगे मुख्य अतिथि

भारत के 74 वें गणतंत्र दिवस पर मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फत्ताह अल-सिसी भारत के मुख्य अतिथि होंगे. साथ ही मिस्र और भारत दोनों देश अपने राजनयिक संबंधों की 75वीं वर्षगांठ मना रहे हैं. अब्देल फतह अल-सीसी गणतंत्र दिवस की परेड में भी हिस्सा लेंगे. 2022-23 में भारत की G20 की अध्यक्षता के दौरान भी ‘अतिथि देश’ के रूप में मिस्र को बुलाया गया है. विदेश मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार मिस्र के राष्ट्रपति सीसी का 25 जनवरी को राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया जाएगा.

 

सेना के सभी हथियार ‘मेड इन इंडिया’ होंगे

1- 74वें गणतंत्र दिवस परेड में इस बार प्रदर्शित होने वाले सेना के सभी हथियार ‘मेड इन इंडिया’ होंगे। 21 तोपों की सलामी देसी 105एमएम इंडियन फील्ड गन्स से होगी। डियन फील्ड गन्स ब्रिटिश-युग की 25-पाउंडर तोपों की जगह लेंगी। ब्रिटिश तोपों का इस्तेमाल द्वितीय विश्व युद्ध में किया गया था। हालांकि, भारतीय तोपों का इस्तेमाल पिछले साल के स्वतंत्रता दिवस पर किया जा चुका है। लेकिन गणतंत्र दिवस पर पहली बार इनका उपयोग होगा।

 

नव-भर्ती अग्निवीर पहली बार परेड में शामिल होंगे

2- इजिप्ट की एक सैन्य टुकड़ी और नव-भर्ती अग्निवीर पहली बार परेड में शामिल होंगे। इसके अलावा, गणतंत्र दिवस पर पाकिस्तान से लगती रेगिस्तानी सीमा की रक्षा करने वाली महिला सैनिक बीएसएफ की ऊंट टुकड़ी का हिस्सा लेगी। रणनीतिक आधार पर तैनात महिला अधिकारी ‘नारी शक्ति’ का प्रदर्शन करने वाले नौसेना के 144 नाविकों के दल का नेतृत्व करेंगी।

 

आईएल-38 विमान इतिहास की किताबों में दर्ज हो जाएगा

3- परेड के लिए अपने आखिरी उड़ान के साथ नौसेना का आईएल-38 विमान इतिहास की किताबों में दर्ज हो जाएगा। इस समुद्री टोही विमान ने लगभग 42 वर्षों तक नौसेना की सेवा की है।  फ्लाई पास्ट में भाग लेने वाले 44 विमानों में नौ राफेल जेट और हल्के हमलावर हेलीकॉप्टर सहित अन्य विमान शामिल होंगे।

 

परेड सुबह 10.30 बजे विजय चौक से शुरू होगी

4- दिल्ली क्षेत्र के चीफ ऑफ स्टाफ मेजर जनरल भवनीश कुमार ने बताया है कि परेड सुबह 10.30 बजे विजय चौक से शुरू होगी और टुकड़ी सीधे लाल किले तक मार्च करेगी। महामारी के चलते लाल किले तक परेड के पारंपरिक मार्ग को बंद कर दिया गया था।

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो पहली बार झांकी दिखाएगा

5- परेड में इस साल 23 झांकियां दिखाई जाएंगी। जिनमें 17 झांकियां विभिन्न राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों की होंगी जबकि छह विभिन्न सरकारी मंत्रालयों और विभागों की हैं। इसके अलावा, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो पहली बार झांकी दिखाएगा। कर्तव्य पथ इस बार गणतंत्र दिवस समारोह की मेजबानी करेगा।

जय हिन्द

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Notice: Undefined index: amount in /home/u709339482/domains/mobilenews24.com/public_html/wp-content/plugins/addthis-follow/backend/AddThisFollowButtonsHeaderTool.php on line 82
%d bloggers like this: