कुंवर विजेंद्र शेखर बनें सीईजीआर के नए प्रेसिडेंट

नईदिल्ली-
सेंटर फॉर एजुकेशन ग्रोथ एंड रिसर्च के वार्षिक एक्जिक्यूटिव काउंसिल के मीटिंग वेबिनार के द्वारा संपन्न हुई। इस खास वेबिनार में कई इनेसेटिव पर चर्चा व मंथन हुई एवं समाज के लिए नए प्रयासों को अमलीजामा पहनाने के लिए विचार हुआ।
इस वर्चुअल मीटिंग में वर्ष 2021 के लिए नई कोर कमेटी का भी चुनाव किया गया। इस मौके पर शोभित यूनिवर्सिटी के चांसलर कुंवर विजेंद्र शेखर को सर्वसम्मति से सीईजीआर के प्रेसिडेंट के रूप में चुना गया। इस मीटिंग की अध्यक्षता नेशनल बोर्ड ऑफ एक्रिडेशन के चेयरमैन केके अग्रवाल ने किया। इस खास मीटिंग को संबोधित करते हुए केके अग्रवाल ने कहा कि सीईजीआर के प्रेसिडेंट के रूप में काम करते हुए संजीव गोस्वामी ने कई महत्वपूर्ण कार्य किए। इनके अवधि में सीईजीआर ने नई ऊंचाईयों को छुआ। इनके द्वारा किए गए कार्य मील का पत्थर साबित होगें।
इस खास वेबिनार में एआईसीटीई के एडवाइजर(एप्रूवल) प्रो. आर हरिहरन को सीईजीआर के नए सीनियर वाइस प्रेसिडेंट.एनडीआईएम के चेयरमैन वीएम बंसल सीनियर वाइस प्रेसिंडेंट, प्रेसटिंज एजुकेशन फाउंडेशन के चेयरमैन डॉ डेविस जैन सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, एएएफटी के चांसलर डॉ संदीप मारवाह सीनियर वाइस प्रेसिडेंट,आईएमएस ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन जेनरल सेक्रेटरी डॉ राकेश छारिया सीनियर वाइस प्रेसिडेंट,अरुणाचल यूनिवर्सिटी ऑफ स्टडीज के चेयरमैन डॉ अश्वनी लोचन सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, एक्सआईएमई ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन के डायरेक्टर जेनरल प्रो. के पी आईसाक्क सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, अरूणाचल यूनिवर्सिटी ऑफ स्टडीज के चेयरमैन अनंत सोनी वाइस प्रेसिडेंट.एलएनसीटी यूनिवर्सिटी के प्रो चांसलर डॉ अनूपम चौकसे वाइस प्रेसिडेंट, सूर्यदत्ता ग्रूप ऑफ इंस्टीट्यूट के चेयरमैन डॉ संजय बी चौरड़िया वाइस प्रेसिडेंट, एएसएम ग्रूप ऑफ इंस्टीट्यूट के चेयरमैन डॉ संदीप पंचपाडें वाइस प्रेसिडेंट के रूप में चुनाव हुआ।
मेम्बर एक्जिक्यूटिव के रूप में रविश रोशन डायरेक्टर, सेंटर फॉर एजुकेशन ग्रोथ एंड रिसर्च (सीईजीआर) सारे इनेसिटिव को मार्गदर्शन एवं निर्देशत करते रहेंगे।
गौरतलब है कि सीईजीआर देश की एकमात्र एजुकेशन थिंक टैंक है जिसके पास चार इनोवेशन का क्रेडिट है। सीईजीआर लगातार एजुकेशन के विकास के लिए सम्मिट का आयोजन करती रही है। सीईजीआर के तत्वाधान में इंडियन एजुकेशन फेस्टिवल का आयोजन किया गया जिसमें एक साथ देश भर में 56 इवेंट हुए जिसमें एक्चुअल सम्मिट में हजारों प्रोफेसर और छात्रों ने भी भाग लिया। जिसकी चर्चा देशभर में हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: