मास्क और शारीरिक दूरी रखेगा संक्रमण से दूर

  • मास्क नहीं पहनने की मानसिकता के प्रति लोगों को होना होगा जागरूक
  • संक्रमण का दौर खत्म नहीं हुआ है,अभी रखना होगा अपना विशेष ख्याल
  • जबतक रखेंगे नियमों का ख्याल, तबतक संक्रमण से रहेंगे सुरक्षित

मुंगेर, 29 सितम्बर।

कोविड-19 को लेकर स्थिति आज भी जटिल है। दवा और वैक्सीन का अबतक उपलब्ध नहीं होना इसका मुख्य कारण है। हालांकि अनलॉक के बाद जीनव सामान्य गति से बढ़ रहा है, लेकिन अक्सर नियमों की हो रही अनदेखी आगे जाकर परेशानी बढ़ा भी सकती है। क्योंकि संक्रमण आज दबे पांव हरेक जगह मौजूद है, इसलिए प्रशासन द्वारा लोगों को सतर्क और जागरूक रहते हुए कार्य करने को कहा जा रहा है। वहीं इन दिनों जो सबसे बड़ी अनदेखी देखी जा रही है, वह शारीरिक दूरी और मास्क का न पहनना है। जैसे-जैसे लोग रोजमर्रा के कामों के लिए घरों से बाहर निकल रहे हैं, बाजार और सड़कों पर भीड़ बढ़ रही है। इस दौरान कई लोग बिना मास्क और कई तो नाम मात्र के पहने नजर आते हैं।

इस वक्त एहतियात बरतने की है आवश्यकता:
मुंगेर की स्थानीय निवासी जितेंद्र कुमार कहते हैं कि अनलॉक में बाजार, दुकान व अन्य प्रतिष्ठान खुल चुके हैं। ऐसे में लोगों की आवाजाही और संख्या भी बढ़ रही है। ऐसे में सुरक्षा के नियमों की अनदेखी में कौन, कब संक्रमण के प्रभाव में आ जाएगा कहा नहीं जा सकता। इसलिए संक्रमण के दौर में बनती इस नई व्यवस्था को अन्यथा लेने की जगह, गंभीर होने की जरूरत है। काम के साथ साथ हम सबको अपनी सुरक्षा भी देखनी होगी। इसलिए अगर हम घर से बाहर हैं तो हमें स्वयं सतर्क ​हो जाने की जरूरत है। हम जितना सतर्क और सावधान रहेंगे, संक्रमण उतना ही हमसे दूर रहेगा।

नियमों का पालन करना और करवाना जरूरी:
वहीं राजन कहते हैं कि आज भी कोविड 19 के प्रभाव में आने वालों की संख्या कम नहीं है। हां, अखबारों व विभिन्न स्वास्थ्य रिपोर्ट में यह जरूर देखने को मिल रहा है कि उपचाराधिनों के ठीक होने का प्रतिशत बढ़ रहा है। यह अच्छी और सकारात्मक बात है। लेकिन इससे ​संक्रमण को लेकर निश्चित हो जाने की जरूरत नहीं है। क्योंकि आज यह वृहद स्तर पर फैल चुका है, इसलिए हम अब भी सजग रहने की जरूरत है। मास्क और शारीरिक दूरी अधिकांश लोग अपना भी रहे हैं, लेकिन पूर्ण सुरक्षा तभी संभव है जब सभी लोग नियमों का पालन करेंगे और करवाएंगे। हम एक दूसरे का ख्याल रखते चलें तभी इस संक्रमण पर लगाम संभव है।

इसलिए जरूरी है मास्क और शारीरिक दूरी:
कोविड 19 के संक्रमण से बचाव के लिए अभी तक देश में कोई टीका या दवा नहीं आई है। ऐसे में इससे बचने के लिए हमें खास एहतियात बरतने की जरूरत है। मास्क का सही ढंग से इस्तेमाल और शारीरिक दूरी वर्तमान में ही एकमात्र इससे बचाव के उपाय हैं। हालांकि, आज अक्सर देखा जा रहा है कि लोग मास्क का सही ढंग से इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं। जिसके कारण संक्रमण फैलने का खतरा अधिक है। मास्क से नाक व मुंह दोनों को ढ़कना है। लेकिन, अधिकांश लोग सिर्फ मुंह ढ़क रहे हैं या फिर गले पर लटका रहे हैं, जो बिल्कुल गलत है। वहीं, यह भी देखा जाता है कि जब दो लोग आपस में बातचीत करते हैं तो अक्सर मास्क उतार देते हैं, यह भी खतरनाक है और संक्रमण को न्योता देने जैसा है।

शारीरिक दूरी और मास्क पहनने वक्त इन बातों पर रखें ध्यान:

  • घर से बाहर लोगों से दो गज या छह फीट की दूरी बनाए रखें।
  • दुकान व बाजार में भीड़ लगाने या उस स्थिति में जाने से बचें।
  • मास्क पहनने से पहले अपने हाथों को अच्छे से साफ कर लें।
  • नाक व मुंह को मास्क से अच्छे ढंक लें, ध्यान रखें की इसमें गैप न हो।
  • मास्क पहने हुए हैं तो उसे और चेहरे को बार-बार हाथों से छूने से बचें।
  • साबुन या फिर सैनिटाइजर से हाथों को साफ करते रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.