राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू की जीवनी के बारे में जानिए

राष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मीदवारों द्रोपदी मुर्मू का जीत तय है।

आयी जानते हैं देश के अगले राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू की जीवनी

द्रौपदी मुर्मू का जन्‍म 20 जून 1958 को ओडिशा के मयूरगंज जिले के बैदपोसी गांव में हुआ था । इनके पिता का नाम बिरांची नारायण टुडु है। वे आदिवासी जातीय समूह, संथाल से संबंध रखती हैं।

द्रौपदी का बचपन गरीबी और अभावों के बीच बीता। ऐसी स्थिति में भी संघर्ष करते हुए उन्‍होंने बीए तक शिक्षा हासिल की है।

द्रौपदी सिंचाई और बिजली विभाग में 1979 से 1983 तक जूनियर असिस्‍टेंट के तौर पर काम कर चुकी हैं। वर्ष 1994 से 1997 तक उन्‍होंरे रायरंगपुर के श्री अरबिंदो इंटीगरल एजुकेशन सेंटर में ऑनरेरी असिस्‍टेंट टीचर भी रही

वर्ष 2000 और 2004 में द्रौपदी मुर्म बीजेपी के टिकट पर रायरंगपुर सीट से विधायक चुनी गई थीं। वे बीजेपी एसटी मोर्चा की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी सदस्‍य भी रह चुकी हैं।

ओडिशा में बीजेडी और बीजेपी गठबंधन सरकार में द्रौपदी मार्च 2000 से कई 2004 तक राज्‍य के वाणिज्‍य व परिवहन तथा मत्‍स्‍य और पशु संसाधन विकास विभाग के मंत्री का पद भी संभाला।

वर्ष 2007 में द्रौपदी को ओडिशा विधानसभा के बेस्‍ट एमएलए ऑफ द ईयर पुरस्‍कार से नवाजा गया था।

द्रौपदी मुर्म झारखंड की ऐसी पहली राज्‍यपाल थीं जिन्‍होंने वर्ष 2000 में इस राज्‍य के गठन के बाद पांच वर्ष का कार्यकाल पूरा किया। उन्‍होंने वर्ष 2015 से 2021 तक झारखंड के राज्‍यपाल का पद संभाला।

ऐसे और भी कई महत्वपूर्ण पदों पर रहते हुए द्रोपदी मुर्मू ने देश की सेवा की है जो अब राष्ट्रपति बनाने वाली हैं।

बने रहिये ऐसे तमाम ख़बरों से उपडेट रहने के लिए

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: