जिले के पीएचसी में फिर से बंध्याकरण और नसबंदी की सुविधा का हुआ शुभारंभ

-कोविड-19 से बचाव को लेकर हर मानकों का रखा जा रहा ख्याल

-लोगों को बचाव से संबंधित उपायों का भी दी जा रही जानकारी

-जिले के तीन पीएचसी छोड़कर शेष सभी पीएचसी में बहाल हुई सुविधा

लखीसराय, 09 अक्टूबर, 2020
कोविड-19 को लेकर पीएचसी में होने वाले परिवार नियोजन ऑपरेशन (बंध्याकरण) और नसबंदी की सुविधा बंद हो गई थी, किन्तु अब फिर से यह सुविधा जिले के पीएचसी में शुरू हो चुकी है। हालाँकि, अभी तीन पीएचसी को छोड़कर शेष पीएचसी में शुरू हुई है। किन्तु, सभी पीएचसी में शीघ्र शुरू कराने को लेकर आवश्यक प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। जल्द से जल्द शुरू कराने को लेकर विभाग के पदाधिकारी तत्परता के साथ आवश्यक कार्यों में जुटी हुई है।

कोविड-19 से बचाव के लिए पूरी सुरक्षा के साथ लोगों को दी जा रही है सुविधा
परिवार नियोजन ऑपरेशन एवं नसबंदी कराने आने वालों लोगों का कोविड-19 से बचाव के लिए सुरक्षा के मद्देनजर नजर बचाव से पूरी सुरक्षा के साथ सुविधा का लाभ दिया जा रहा है। ताकि किसी प्रकार का संक्रमण का खतरा उत्पन्न नहीं हो। साथ ही कोविड-19 से बचाव के लिए हर मानकों का पालन किया जा रहा है और आवश्यक एहतियात बरती जा रही है। इसके अलावे लोगों को बचाव से संबंधित आवश्यक जानकारियाँ भी दी जा रही है। ताकि लोग पीएचसी परिसर से बाहर और अपने घरों में भी सुरक्षा से संबंधित मानकों का पालन करें।

शीघ्र शेष पीएचसी में भी सुविधा का होगा शुरूआत
केयर इंडिया के फैमिली प्लानिंग समन्वयक अनुराग कश्यप ने बताया कि जिले के सूर्यगढ़ा, पीपररिया एवं रामगढ़ पीएचसी में बंध्याकरण एवं नसबंदी की सुविधा शुरू नही हो पाई। किन्तु यहाँ भी शीघ्र शुरू कराने की तैयारी है। जल्द से जल्द शुरू कराने को लेकर आवश्यक प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। शुरू होने के साथ लोगों बेहतर सुविधा के साथ सेवा उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए तेजी के साथ आवश्यक प्रक्रिया पूरी की जा रही है।

आशा द्वारा भी किया जा रहा है जागरूक
बंध्याकरण एवं नसबंदी अभियान को गति देने एवं सफल बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग से जुड़ी आशा कार्यकर्ता द्वारा भी लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इस दौरान ऑपरेशन के अलावे अन्य वैकल्पिक व्यवस्था की भी जानकारी दी जा रही है। जैसे कि, पीएचसी में उपलब्ध अंतरा, छाया, कंडोम, कॉपर-टी आदि की जानकारी देकर लोगों को सुविधा का लाभ लेने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। साथ ही लोगों को छोटा परिवार, खुशहाल परिवार का संदेश दिया जा रहा है।

कोविड उचित व्यवहार अपनाकर रहें सुरक्षित

व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें
 बार-बार हाथ धोने की आदत डालें
 साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
 छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढंके.
 उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
 घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
 बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें.
 आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
 मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें
 बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों व्यक्तियों ने मास्क पहने हों
 कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें
 बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.