उत्तर प्रदेश को आज नया बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे मिल जाएगा।

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कानपुर हवाई अड्‌डे पर पहुंचे यहां उनका स्वागत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया। यहां से प्रधानमंत्री सीधे जालौन  गए  उनके साथ सीएम योगी और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी कार्यक्रम में रहेंगे। पीएम यहां एक जनसभा को संबोधित करेंगे। इससे पहले, पीएम बुंदेलखंड 19 नवंबर 2021 को आए थे जहाँ  पीएम ने महोबा में 3,250 करोड़ से बनी अर्जुन सहायक परियोजना का उद्घाटन किया था।आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस एक्सप्रेस-वे का शुभारंभ करने आ रहे हैं वह 296 किमी लंबा एक्सप्रेस-वे चित्रकूट से शुरू होगा और 7 जिलों से गुजरते हुए इटावा में खत्म होगा। इटावा में ये लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे से मिल जाएगा। यानी, अब बुंदेलखंड से दिल्ली दूर नहीं।इस एक्सप्रेस-वे को बनाने के लिए 36 महीने का समय तय किया गया था, लेकिन यह रिकॉर्ड 28 महीनों में बनकर तैयार हुआ है। फरवरी-2020 में प्रधानमंत्री ने इसका शिलान्यास किया था। यह यूपी का चौथा एक्सप्रेस-वे है। यह 4 लेन का है और भविष्य में इसे 6 लेन का भी किया जा सकता है।यह एक्सप्रेस-वे चित्रकूट जिले के भरतकूट क्षेत्र के पास गोंडा गांव में खत्म होगा। एक्सप्रेस-वे पर 3.75 मीटर चौड़ी सर्विस लेन है। इसके किनारे 7 लाख पेड़ लगाए जाएंगे। पीएम के आगमन को देखते हुए एक्सप्रेस टोल प्लाजा तक दो किलोमीटर के दायरे की निगरानी कमांडों ने संभाल ली है। एसपीजी के हेलीकाप्टर कार्यक्रम स्थल का हवाई सर्वे कर रहे हैं। सुरक्षा की दृष्टि से कैथेरी गांव में हर घर की छत पर पुलिस फोर्स तैनात है। हाइवे पर दोनों तरफ बैरिकेडिंग कर दी गई है। जनसभा स्थल से करीब तीन किलोमीटर पहले पांच स्थानों पर वाहन पार्किंग की व्यवस्था की गई है।पहले चित्रकूट से कानपुर और फिर इटावा, आगरा के रास्ते दिल्ली जाना पड़ता था। इस सफर में 12 से 14 घंटे तक का वक्त लगता था। सफर की दूरी करीब 700 किलोमीटर थी। लेकिन बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे बनने के बाद अब ये दूरी सिर्फ 626 किलोमीटर रह जाएगी। यानी, अब यह सफर 6 से 7 घंटे में पूरा हो जाएगा।बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे में शामिल बुंदेलखंड के200 से ज्यादा गांव के लोगों को इसका फायदा मिलेगा। इसमें बुंदेलखंड के 150 से ज्यादा गांव शामिल हैं।एक्सप्रेस-वे और डिफेंस कॉरिडोर के नाम पर भाजपा बुंदेलखंड को अपना गढ़ बनाए रखने की तैयारी कर रही है। भले ही बुंदेलखंड में लोकसभा की चारों लोकसभा सीटें बीजेपी के पास हैं। फिर भी पार्टी मिशन-2024 को अभी से मजबूत करने में लग गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: