टीका पड़ना अच्छी बात, लेकिन सावधानी फिर भी जरूरी

जिले के आईसीडीएस कर्मी कोरोना के टीकाकरण को लेकर हैं उत्साहित

पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों के साथ आईसीडीएस के कर्मचारियों को भी पड़ना है कोरोना का टीका

बांका-

कोरोना के टीकाकरण को लेकर जिले में जोर-शोर से तैयारी चल रही है. पहले चरण में पड़ने वाले 10 हजार स्वास्थ्यकर्मियों की सूची बन गई है. उसका डाटा भी वेबसाइट पर अपलोड कर दिया गया है. अब बस इंतजार है टीका के आ जाने का. टीका आ जाने के बाद स्वास्थ्यकर्मियों को देने का काम शुरू कर दिया जाएगा. स्वास्थ्यकर्मियों के साथ आईसीडीएस के कर्मचारियों को भी पहले चरण में ही टीका पड़ेगा. ऐसे में इन लोगों का विचार जानना भी जरूरी है. टीका पड़ने से इनके कामकाज और व्यवहार में क्या बदलाव आएगा, यह समझ लेना भी जरूरी है.

फिर भी मास्क पहने और सामाजिक दूरी का पालन करें: आईसीडीएस के जिला समन्वयक शम्स तबरेज का कहना है कि “टीका पड़ना अच्छी बात है. कोरोना के टीका का इंतजार काफी समय से हो रहा है और हमलोग खुशकिस्मत हैं कि पहले चरण में हमलोगों को टीका पड़ेगा, लेकिन मेरा मानना है कि टीका पड़ने के बाद भी लोगों को सचेत रहना चाहिए. कोरोना ऐसी बीमारी है जो लापरवाही की वजह से अपना पांव पसारती है और सतर्कता ही इसका सबसे बेहतर बचाव है. मेरा मानना है कि टीका पड़ जाने के बाद भी लोगों को मास्क पहनते रहना चाहिए और सामाजिक दूरी का पालन करना चाहिए.”

पहले चरण में हमलोगों को चुना इसके लिए सरकार का शुक्रगुजार: आईसीडीएस के शंभूगंज प्रखंड समन्वयक अनंत कुमार का कहना है कि “टीका पड़ने से हमलोग थोड़ी राहत महसूस करेंगे. हमलोगों का काम आमलोगों के बीच में होता है, इसलिए हमलोगों को जोखिम भी ज्यादा रहता है. बहुत चीज ना चाहते हुए भी करना पड़ता है. ऐसे में टीका पड़ जाने से हमलोग बहुत राहत महसूस करेंगे और सरकार का शुक्रगुजार हैं कि पहले चरण के लिए हमलोगों को चुना गया है.”

आमलोगों को भी फायदा पहुंचेगा: बेलहर के प्रखंड समन्वयक अभिषेक कुमार का कहना है “ना सिर्फ हमलोगों को इसका फायदा होगा, बल्कि हमलोग जिनके बीच में काम करते हैं, उन्हें भी इससे फायदा पहुंचेगा. आखिर कोरोना संक्रमण से ही तो फैलता है और जब हम संक्रमण मुक्त रहेंगे तो हम जिनके साथ काम करते हैं वह भी संक्रमण मुक्त रहेगा. इसलिए कोरोना का टीका पड़ने से बहुत ही सकारात्मक संदेश जाएगा.”

निर्भीक होकर काम कर सकेंगे: बेलहर के प्रखंड परियोजना प्रबंधक संजय भारती का कहना है “टीका पड़ जाने से लोगों का भय खत्म हो जाएगा. हमलोग लोगों के बीच में काम करते हैं तो थोड़ा बहुत डर तो मन में रहता है, जब टीका पड़ जाएगा तो यह डर खत्म हो जाएगा. हमलोग अभी भी पूरी निष्ठा और समर्पण के साथ काम कर रहे हैं. टीका पड़ जाने के बाद निर्भीक होकर भी काम कर सकेंगे.”

कोविड 19 के दौर में रखें इसका भी ख्याल:
• व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें.
• बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.
• साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
• छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढंके.
• उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
• घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
• बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें.
• आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
• मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें
• किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों
• कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें
• बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: