बिना मास्क का नहीं दे रहे सामान, शारीरिक दूरी का करा रहे पालन

कोरोना के बढ़ने की आशंका के बीच दुकानदारों ने लिए अहम फैसला

दुकान के आगे बांस-बल्ली लगाकर करा रहे हैं शारीरिक दूरी का पालन

भागलपुर, 24 नवंबर

कोरोना के दोबारा संक्रमण बढ़ने की आशंका के बीच स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है. जांच की गति तेज कर दी गई है. जगह-जगह अभियान चलाकर मास्क पहनने के लिए लोगों को प्रेरित किया जा रहा है. इसके अलावा अब स्थानीय स्तर पर भी लोग सतर्क हो रहे हैं. किराना दुकानदार से लेकर सैलून चलाने वाले तक कोरोना से बचाव को लेकर सतर्क हो गए हैं.

बिना मास्क वाले लौटा दे रहे दुकानदार: तिलकामांझी में किराना दुकान चलाने वाले रूपेश ने अपनी दुकान के आगे बांस-बल्ली लगा दिया है. 2 मीटर की दूरी से लोगों को सामान दे रहे हैं. साथ ही बिना मास्क वाले लोगों को वापस लौटा दे रहे हैं. रूपेश का कहना है कि दुकान पर कई तरह के लोग आते हैं. किसे कौन सी बीमारी है कहा नहीं जा सकता. ऐसे में सतर्क रहना बहुत जरूरी है. इससे हमारा भी बचाव होगा और ग्राहक भी सुरक्षित रहेंगे.

सैलून आने वाले को कराते हैं सैनिटाइज: इसी तरह सैलून चलाने वाले विजय अपने यहां आने वाले ग्राहकों का पहले हैंड सैनिटाइज करवाते हैं. उसके बाद ही सैलून के अंदर आने देते हैं. कटिंग और शेविंग के बाद वह अपने औजार को सैनिटाइज कर देते हैं. साथ ही सैलून में भीड़ नहीं होने देते हैं. लोगों से फोन पर बात कर आने की बात कहते हैं.

आने वाला 15 दिन अहम: जनरल स्टोर चलाने वाले मुकेश का कहना है कि अभी त्यौहार की समाप्ति हुई है. उसके पहले चुनाव चल रहा था. लोग काफी भीड़ भाड़ में इकट्ठे हुए हैं. अगला 15 दिन अहम है. अगर इस दौरान सतर्क रह गए तो काफी राहत मिलेगी. इसलिए हम अपने अपनी दुकान आने वाले सभी ग्राहकों से मास्क पहनने की अपील करते हैं. साथ ही शारीरिक दूरी का पालन करवाते हैं.

सावधानी ही एकमात्र बचाव है: तिलकामांझी चौक पर पोल्ट्री फार्म चलाने वाले नसीम ने अपनी दुकान के आगे एक छोटा सा बैरियर लगा दिया है और वहां पर एक स्टाफ को तैनात कर दिया है. जो भी ग्राहक आते हैं उससे स्टाफ आर्डर लेता है और दुकान से आर्डर का सामान वापस ग्राहक को देता है और उससे पैसे ले लेता है. नसीम कहते हैं सावधानी बरतने में ही भलाई है. इसलिए हमने यह व्यवस्था की है. कोरोना की कोई दवा नहीं है, इस वजह से सावधानी ही इसका एकमात्र उपाय है.

कोविड 19 के दौर में रखें इसका भी ख्याल:
• व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें.
• बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.
• साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
• छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढंके.
• उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
• घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
• बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें.
• आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
• मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें
• किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों
• कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें
• बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.