‘सच्चाई सामने लाना सिनेमा की जिम्मेदारी’- राम गोपाल वर्मा

डेंजरस के ट्रेलर रिलीज में वर्मा ने तहे-दिल से की ‘दि कश्मीर फाइल्स’ की तारीफ

देश के नामचीन फिल्म निर्देशकों में शुमार होनेवाले राम गोपाल वर्मा ने कश्मीर घाटी से हिन्दुओं के निर्वासन पर आधारित बहुचर्चित फिल्म ’दि कश्मीर फाइल्स’ की दिल खोलकर तारीफ करते हुए कहा है कि सिर्फ मनोरंजन करना ही नहीं बल्कि समाज की सर्च्चाइयों को सामने लाना भी सिनेमा की जिम्मेदारी है। अपनी लेस्बियन थ्रिलर फिल्म ’डेजरस’ का ट्रेलर रिलीज करने के लिए राजधानी दिल्ली आए वर्मा ने इस मौके पर कहा कि आज नेशनलिस्टिक व रियलिस्टिक सिनेमा का जिस तरह से दर्शकों द्वारा स्वागत किया जा रहा है वह ना सिर्फ सुखद है बल्कि सच्ची घटनाओं पर आधारित फिल्मों की सफलता का स्कोप भी बढ़ा है। उन्होंने कहा कि सिनेमा में दिखाई जाने वाली घटनाएं और उसमें उठाए जाने वाले विषय समाज के एक वर्ग को असहज कर सकते हैं लेकिन इसका यह कतई मतलब नहीं है कि उन हकीकतों पर पर्दा डाल दिया जाए और उसकी अनदेखी कर दी जाए। उन्होंने विश्वास जताया है कि रियलिस्टिक सिनेमा के मौजूदा दौर में अब विभिन्न विषयों पर फिल्में बनाने के लिए लोग प्रोत्साहित होंगे और दर्शकों को भी इसका लाभ मिलेगा।
दरअसल सत्य घटनाओं पर आधारित फिल्मों को जिस तरह अक्सर विवाद और प्रतिरोध का सामना करना पड़ता है वैसा ही कुछ दि कश्मीर फाइल्स के मामले में भी देखा गया और इसे पुराने जख्मों को कुरेदने और समाज के एक खास वर्ग को कठघरे में खड़ा करने की कोशिश करने वाला करार देते हुए सड़क से लेकर अदालत तक में विरोध दर्ज कराके इसका प्रदर्शन रूकवाने की भरसक कोशिश की गई। यहां तक कि समाज के प्रबुद्ध वर्ग ने भी इस फिल्म को नकारात्मक प्रतिक्रिया ही दी और इसे बनाने के पीछे की मंशा पर सवाल खड़ा करते हुए इससे सिने जगत के ’धर्मनिरपेक्ष’ स्वरूप और स्वभाव को नुकसान पहुंचने की बात कही गई। लेकिन समाज के एक बड़ा वर्ग इसके समर्थन में भी आया जिसमें राम गोपाल वर्मा सरीखे दिग्गज भी शामिल हैं। आगामी आठ अप्रैल को रिलीज होने जा रही दो महिलाओं के आपसी प्रेम सम्बंध सरीखे बोल्ड विषय पर आधारित नैना गांगुली और अप्सरा रानी अभिनीत अपनी फिल्म डेंजरस का ट्रेलर रिलीज के मौके पर वर्मा ने दि कश्मीर फाइल्स की तारीफ करते हुए कहा कि इसने हर नियम को ध्वस्त कर दिया। फिल्म में स्टार्स नहीं हैं। यहां तक कि डायरेक्टर ने दर्शकों को इम्प्रेस करने की कतई कोशिश नहीं की, जो कि हर फिल्ममेकर करता है। उन्होंने यह भी कहा कि अब जब भी कोई डायरेक्टर फिल्म बनाने की कोशिश करेगा तो द कश्मीर फाइल्स का रिफरेंस लेगा और इसे स्टडी करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Notice: Undefined index: amount in /home/u709339482/domains/mobilenews24.com/public_html/wp-content/plugins/addthis-follow/backend/AddThisFollowButtonsHeaderTool.php on line 82
%d bloggers like this: