BJP सांसद निशिकांत दुबे और मनोज तिवारी सहित 9 के खिलाफ FIR दर्ज

झारखंड के देवघर एयरपोर्ट की सुरक्षा में चूक के मामले में गोड्डा से बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे, मनोज तिवारी समेत 9 लोगों के खिलाफ कुंडा पुलिस थाने में FIR दर्ज हुई है. दरअसल 31 अगस्त को बीजेपी का डेलीगेशन दुमका की पीड़िता अंकिता से मिलने के लिए आया था. इसमें बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे के साथ, दिल्ली के सांसद मनोज तिवारी और कपिल मिश्रा समेत कई लोग थे. दुमका से जाते समय ये लोग शाम करीब सवा 5 बजे देवघर एयरपोर्ट पहुंचे थे और क्लीयरेंस लेने के लिए एटीसी रूम में घुस गए और कई सुरक्षा मानकों उल्लंघन किया और अधिकारियों पर टेक-ऑफ करने के लिए दबाव डाला। शिकायत पत्र में सभी पर दवाब बनाकर जबरन ATC क्लियरेंस लेने का भी आरोप लगाया गया है। देवघर हवाई अड्डे के सुरक्षा प्रभारी डीएसपी सुमन आनन ने इसकी शिकायत की है.

डीएसपी ने आवेदन में कहा है कि एयरपोर्ट के संचालन के सुरक्षा मानकों का उक्त लोगों ने उल्लंघन करते हुए एटीसी में प्रवेश किया. नाइट ऑपरेशन की सुविधा उपलब्ध न होने के बावजूद एटीसी क्लीयरेंस के लिए दबाव बनाया.

इन धाराओं के तहत मामला दर्ज

निशिकांत दुबे और मनोज तिवारी – और हवाई अड्डे के निदेशक सहित नौ लोगों पर आईपीसी की धारा 336 (दूसरों की जान या व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालने वाला कार्य), 447 (आपराधिक अतिचार के लिए सजा), 448 (घर-अतिचार के लिए सजा) के तहत मामला दर्ज किया गया है। कुंडा थाना प्रभारी प्रवीण कुमार ने इसकी जानकारी दी है।

निशिकांत दुबे ने एफआईआर दर्ज होने के बाद क्या कहा?

बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने ट्वीट करते हुए कहा कि मुद्दा अंकिता की निर्मम हत्या है. उन्होंने कहा कि हम लोग पीड़िता के परिवार से मिलने क्या गए सीएम हेमंत सोरेन इतना बौखला गए कि पूरा पेड सिस्टम और अधिकारी गाली देने लगे. उन्होंने कहा कि अंकिता और झारखंड के इस्लामीकरण से त्रस्त परिवार के इंसाफ़ की लड़ाई इस मुक़दमे से बंद नहीं होगी.

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: