छोटा और सुखी परिवार के लिए परिवार नियोजन के स्थाई उपाय अपनाना आवश्यक

  • परिवार नियोजन के ऑपेरशन के दौरान सुरक्षा का रखा जाता है ख्याल
  • अफवाहों से रहें दूर, परिवार नियोजन का स्थाई उपाय अपनाएं जरूर

लखीसराय, 11, दिसंबर, 2020
समाज का हर परिवार खुशहाल जिंदगी जीने के लिए अपने बच्चे की संख्या को सीमित करना चाहते हैं ताकि बच्चों की सही तरीके से परवरिश हो सके। इसीलिए आज के समय में लोग बच्चों की सही शिक्षा-दीक्षा, रहन- सहन और सही मात्रा में पोषक तत्वों से युक्त भोजन की उपलब्धता के लिए छोटा और सुखी परिवार के मंत्र को अपना चुके हैं। लोगों की परिवार नियोजन के प्रति उत्सुकता जनसंख्या स्थिरीकरण के लक्ष्य के हासिल करने में सहायक है। इसके लिए सरकार भी तमाम तरह की गतिविधियों का आयोजन कर समाज के प्रत्येक व्यक्ति को जागरूक कर रही है। इसके साथ ही स्थानीय पीएचसी स्तर पर निःशुल्क परिवार नियोजन के स्थाई उपाय की व्यवस्था उपलब्ध है। मालूम हो कि छोटा और खुशहाल परिवार के लिए परिवार नियोजन का स्थायी उपाय के तहत पुरुष नसबंदी या महिला बंध्याकरण का ऑपरेशन जरूरी है। इसीलिए अफवाहों से दूर रहते हुए परिवार नियोजन का स्थायी उपाय अपनाना जरूरी है।

अफवाहों से दूर हो निर्भीक हो कराएं बंध्याकरण का ऑपरेशन :
सरकारी अस्पताल में सरकारी व्यवस्था के बीच परिवार नियोजन के लिए बंध्याकरण का ऑपरेशन करा चुकी रिंकी कुमारी ने बताया कि ऑपरेशन कराने के पहले सरकारी अस्पतालों में व्यवस्था को लेकर तरह-तरह के बातें सुनने को मिलती थी। जब वह तैयार हुई तो उसे आसपास के लोगों के अफवाहों का सामना करना पड़ा। बावजूद इसके वह परिवार नियोजन के लिए बंध्याकरण के ऑपरेशन का मन पूरी तरह से बना चुकी थी और तमाम अफवाहों एवं बंदिशों से बाहर आकर स्वास्थ्य विभाग की पहल पर मैं बंध्याकरण के ऑपरेशन के लिए लखीसराय पीएचसी गई। जहाँ जाने के बाद ऑपरेशन एवं अस्पताल की व्यवस्था को लेकर मिल रही तमाम जानकारी महज एक अफवाह साबित हुई। इसीलिए, वह अन्य महिलाओं से भी यह अपील करती है कि अफवाहों से बाहर आते हुए निर्भीक होकर परिवार नियोजन के बंध्याकरण का ऑपरेशन कराएं। इसके बाद ही
कोई खुशहाल परिवार की जिंदगी जी सकते हैं।

अस्पतालों में समुचित व्यवस्था के बीच किया जाता है परिवार नियोजन के लिए ऑपरेशन :

एक अन्य महिला माया देवी ने बताया कि अस्पताल में ऑपरेशन के दौरान सुरक्षा के हर मानकों का ख्याल रखा जाता है और समुचित व्यवस्था के बीच ऑपरेशन किया जाता है। इसके साथ हीं ऑपरेशन के बाद आवश्यक दवाईयाँ भी मुफ्त दी जाती है। इसीलिए अस्पताल में उपलब्ध व्यवस्था को लेकर किसी प्रकार के अफवाहों पर ध्यान नहीं देंते हुए खुद जाकर अस्पताल की व्यवस्था देखें।

बच्चों के उचित परवरिश के लिए जरूरी है छोटा परिवार :

एक अन्य महिला गुड़िया कुमारी ने बताया कि सभी लोग अपने बच्चे को उचित परवरिश देना चाहते हैं किन्तु बड़ा परिवार होने के कारण ऐसा संभव नहीं हो पाता है। इसीलिए बच्चे को उचित परवरिश एवं अच्छी शिक्षा देने के लिए छोटा परिवार जरूरी है तभी खुशहाल परिवार का सपना साकार होगा। इसके लिए बंध्याकरण के ऑपरेशन पर बल दें और खुद के साथ- साथ अन्य महिलाओं को भी जागरूक करें।

स्वास्थ्य प्रबंधक के नेतृत्व में स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा लोगों को किया जा रहा है जागरूक :

लखीसराय पीएचसी के स्वास्थ्य प्रबंधक अनिल कुमार के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग से जुड़े आशा, ऑगनबाड़ी सेविका समेत अन्य कर्मियों द्वारा लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसके लिए कर्मी घर-घर जाकर महिला एवं उनके परिवार वालों को ऑपरेशन के लिए प्रेरित कर रहे हैं और परिवार नियोजन से होने वाले फायदे तथा अस्पताल की व्यवस्था की भी जानकारी दे रहे हैं।

जागरूकता का दिख रहा है असर :-
स्वास्थ्य प्रबंधक अनिल कुमार ने बताया कि स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा लोगों को जागरूक करने का साकारात्मक असर भी दिखने को मिल रहा है। लोग उत्साह के साथ ऑपरेशन के लिए पीएचसी आने लगे हैं। जो सामाजिक बदलाव का बड़ा संकेत है।

कोरोना काल में संक्रमण से बचने के लिए इन मानकों का करें पालन :-

  • मास्क का अनिवार्य रूप से करें उपयोग ।
  • भीड़-भाड़ वाले जगहों पर जाने से करें परहेज ।
  • बेवजह यात्रा करने से बचें।
  • बाहरी खाना खाने से करें परहेज ।
  • साबुन या अल्कोहल युक्त पदार्थों से करें हाथ साफ ।
  • यात्रा के दौरान आवश्यक दूरी का भी रखें ख्याल और निश्चित रूप से मास्क और सैनिटाइजर का करें उपयोग ।
  • गर्म व ताजा खाना का सेवन करें, बासी खाना से बिलकुल रहें दूर ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Notice: Undefined index: amount in /home/u709339482/domains/mobilenews24.com/public_html/wp-content/plugins/addthis-follow/backend/AddThisFollowButtonsHeaderTool.php on line 82
%d bloggers like this: