70 साल के हुए पीएम मोदी, बधाईयां का लगा तांत


राजनीती में दमदार हस्ती से लेकर उनके संघर्षपूर्ण जीवनकाल की चर्चा करना आज है अहम क्यूंकि आज लोकप्रिय नेता नरेंद्र दामोदर दास मोदी का जन्मदिन है, उनके जीवनकाल के कुछ रहस्य जो उनके बचपन में भी उनकी ही तरह दमदार थे, बात करें बीजेपी के काल की तो शुरू से ही नेताओं की इस बात का अंदाजा लग गया था की नरेंद्र मोदी देश को नयी ऊंचाई देंगे, वो देश के हित से जुड़े काम बचपन से ही करते रहते थे। बीजेपी के पार्टी में होनहार चेहरा थे. नरेंद्र मोदी उन्होंने शुरुवात 2014 में जिसमे वो गुजरात से चुनाव लड़े। उसके बाद सभा चुनाव लड़ा और चुनाव जीतकर पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई. आखिरी बार 1984 के चुनावों में किसी राजनीतिक दल ने पूर्ण बहुमत हासिल किया था. 2019 के संसदीय चुनावों में भी मोदी के नेतृत्व में बीजेपी ने पूर्ण बहुमत हासिल किया. जब मोदी दूसरी बार सत्ता में आए तो उन्होंने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करने और राम मंदिर के चुनावी वादे को पूरा किया. पर इस बीच नरेंद्र मोदी कई तरह के विवादों में घिरे रहे,नागरिकता संशोधन कानून, एनआरसी, बेरोजगारी, अर्थव्यवस्था और चीन से सीमा विवाद जैसे मुद्दों का सामना करना पड़ा.



बचपन का निराला सफर


नरेंद्र मोदी गुजरात के मेहसाना जिले के एक छोटे से कस्बे वडनगर में जन्मे. 17 सितंबर 1950 को जन्मे नरेन्द्र मोदी, दामोदरदास मोदी और हीराबा की छह संतानों में से तीसरी संतान थे. बताया जाता है कि मोदी के परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी और उनके पिता स्थानीय रेलवे स्टेशन पर बनी चाय की दुकान पर चाय बेचते थे. मोदी भी इस चाय की दुकान पर अपने पिता का हाथ बंटाते थे. मोदी की माता एक गृहणी महिला हैं. मोदी लगभग हर जन्मदिन पर अपनी मां का आशीर्वाद लेने गुजरात जाते हैं. बताया जाता है कि मोदी के परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी और उनके पिता स्थानीय रेलवे स्टेशन पर बनी चाय की दुकान पर चाय बेचते थे. मोदी भी इस चाय की दुकान पर अपने पिता का हाथ बंटाते थे. मोदी की माता एक गृहणी महिला हैं. मोदी लगभग हर जन्मदिन पर अपनी मां का आशीर्वाद लेने गुजरात जाते हैं.

जिसने बचपन में अपना घर छोड़ दिया हो उसे देश सँभालने की जिम्मेदारी मिली है आज और वह यह काम बखूबी निभा रहे है. दो साल तक भारत भ्रमण करने के बाद 20 साल की उम्र में मोदी अहमदाबाद आ गए. और फिर वो 1972 में आरएसएस के प्रचारक बन गए और पूरा समय आरएसएस को देने लगे. साल 1975 में इंदिरा गांधी ने देश में आपातकाल लागू कर दिया और नरेन्द्र मोदी भी आपातकाल विरोधी आंदोलन का हिस्सा बन गए. इसी दौरान, आपातकाल के विरोध में गठित की गई गुजरात लोक संघर्ष समिति (जीएलएसएस) के महासचिव बने. नरेन्द्र मोदी केंद्र सरकार की कड़ी निगरानी से बचने के लिए कई बार अपना भेष बदल लेते थे. कभी वे एक सरदार के भेष में होते थे, तो अगले दिन एक दाढ़ी वाले बुजुर्ग के रूप में.


शुभकामनाओं का लगा तांता


सुबह से ही शुभकामनाओं का सिलसिला जारी है. उन्हें देश-विदेश से ट्वीट आ रहे हैं। सोशल मीडिया पर लोग उनकी लंबी उम्र की कामना कर रहे हैं। कई देशों के नेताओं से उन्हें जन्मदिन की बधाई मिली है। वहीं, देश भर में भाजपा कई कार्यक्रमोंं का आयोजन कर रही है। इसके अलावा कांग्रेस अपोज़िशन पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी उन्हें जन्मदिन की बधाई दी है।

ये भी पढ़े : स्वास्थ्य विभाग ने हेल्थ बेनिफिट पैकेज 2.0 किया लागू


 फ़िनलैंड से भी आया खत
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जन्मदिन की शुभकामनाएं देते हुए फिनलैंड की प्रधानमंत्री सना मारीन ने कहा कि दोनों देशों के संबंधों को अभी और आगे ले जाने की बहुत संभावनाएं मौजूद हैं। यह उल्लेख करते हुए कि दोनों देश नियम-आधारित अंतरराष्ट्रीय सीमा के बड़े समर्थक हैं, उन्होंने कहा कि फिनलैंड यूरोपीय संघ का सक्रिय सदस्य है और जुलाई महीने में हुई भारत और यूरोपीय संघ के देशों के शिखर सम्मेलन की सफलता के परिदृश्य में भारत और यूरोपीय संघ के संबंध भरोसा देने वाले लगते हैं।

रूस के राष्ट्रपति वल्दीर पुतिन ने दी शुभकमना

 नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर देश विदेश से शुभकामना का ताँता लगा हुआ है. उन्होंने नरेंद्र मोदी के साथ काम करने की ईच्छा जाहिर की है उन्होंने कहा की मैं आपके साथ रचनात्मक बातचीत जारी रखने और दिव्पक्षीय और अंतर्राष्ट्रीय एजेंडा के सामयिक पर एक साथ काम करने के लिए तत्पर हूँ.  



अमित शाह ने दी बधाई


नरेंद्र मोदी की सबसे अच्छी जोड़ी अमित-मोदी की मानी जाती है. अमित ने बधाई देते हुए ट्वीट किया की आपके नेतृत्व में एक मजबूत भारत की नींव रखी गयी है.
दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी को जन्मदिन की बधाई दी है. केजरीवाल ने ट्वीट किया- ‘आपको हैप्पी बर्थडे मोदी सर. मैं आपके स्वास्थ्य की कामना करता हूं.’
लॉकडाउन में  बीजेपी कर रही है देश भर में कार्यक्रम आयोजित

नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर भारतीय जनता पार्टी पुरे देश भर में कई कार्यक्रम आयोजित कर रही है. गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, बिहार,राजस्थान, सहित कई राज्यों में कार्यक्रम के आयोजन में लगी हुई है।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि गुरुवार को भारतीय जनता युवा मोर्चा द्वारा रक्तदान शिविर लगाया जाएगा। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि यह पवित्र काम दूसरे का जीवन बचाने के लिए कर रहे हैं। 

बिहार भाजपा अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री के जन्मदिन को ‘सेवा सप्ताह’ के रूप में मनाया जाएगा। उनके 70वें जन्मदिन के मौके पर न केवल बिहार बल्कि पूरा देश जनसेवा के माध्यम से प्रधानमंत्री का जन्मदिन मनाएगा। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम 20 सितंबर तक आयोजित होंगे। इस दौरान गरीब कल्याण, पर्यावरण संरक्षण और स्वच्छता अभियान से संबंधित अनेक गतिविधियां चलाई जा रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Notice: Undefined index: amount in /home/u709339482/domains/mobilenews24.com/public_html/wp-content/plugins/addthis-follow/backend/AddThisFollowButtonsHeaderTool.php on line 82
%d bloggers like this: