दिल्ली अग्निकांड: आग से मची हड़कम और खत्म हो गयी 27 ज़िंदगिया, जानिए उस 18 घंटो में कब क्या हुआ

दिल्ली के मुंडका इलाके में शुक्रवार की शाम एक व्यावसायिक इमारत के तीन मंजिला इमारत में भीषड़ आग लग गई. इस हादसे में महिला समेत 27 लोगो की जान चली गयी, जबकि 12 लोग झुलस गए. आप को बता दे की हादसे के वक्त ईमारत में मीटिंग चाल रही थी, बतया जा रहा रहा है की घटना के समय बिल्डिंग का दरवाजा बंद था. वहीं जिस बिल्डिंग में आग लगी उसमे कई घंटो तक दमकल विभाग की तरफ से रेस्क्यू ऑपरेशन चलती रही I जिसमें अभी भी राहत एवं बचाव का काम जारी हैं. वही इस घटना की सुचना मिलते ही दिल्ली सरकार में भी हड़कंप मच गयी. मौके पर सत्येंद्र जैन ने पहुंच कर घटनास्थल का जायजा लिया।

 

कंपनी के  मालिक गिरफ़्ता

इस मामले दिल्ली पुलिस ने एफआईआर कर कंपनी के मालिकों को गिरफ़्तार कर लिया हैं. कंपनी के मालिकों की पहचान हरीश गोयल और वरुण गोयल के रूप में हुई हैं. जानकारी के मुताबिक मालिक मनीष लाकड़ा अभी भी फरार बताया जा रहा है. लोगों का कहना हैं की मनीष लाकड़ा अपने पुरे परिवार के साथ इसी बिल्डिंग के तीसरे फ्लोर पर रहता था. आप को बता दे की आग लगने के दौरान उसकी माँ, पत्नी और 2 बच्चे ऊपर ही मौजूद थे. उन लोगों का भी रेसक्यू किया गया लेकिन मनीष उस वक़्त मौजूद था या नहीं ये साफ तौर पर पता नहीं चाल पा रहा हैं

मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख मुआवजा देने की बात की गई

 इस घटना के पुरे 19  घंटो के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद  केजरीवाल घटना का जायजा लेने घटनास्थल  पर पहुंचे. मीडिया से बात- चित के दौरान कहा की  मृतकों के परिजनों को 10-10  लाख का  मुआवजा दिया जाएगा, साथ ही सभी घायलों को 50-50 हजार रुपये दिए जाएंगे, सीएम केजरिवाल ने ये भी खा की इस मामले का जो भी दोषी होगा उस के खिलाफ कड़ी  कार्रवाई की जाएगी किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: